​ ​ फ्लोरिडा में आई 'इरमा-तबाही': तीन की मौत, 34 लाख घरों की बत्ती गुल..!
Sunday, March 24, 2019 | 3:26:43 PM

RTI NEWS » News » International


फ्लोरिडा में आई 'इरमा-तबाही': तीन की मौत, 34 लाख घरों की बत्ती गुल..!

Monday, September 11, 2017 17:21:31 PM , Viewed: 426
  • वाशिंगटनः अमरीका में इरमा तूफान के फ्लोरिडा में पहुंचने के बाद इसकी तीव्रता तो कम हो गई है। तूफान से फ्लोरिडा शहर बुरी तरह प्रभावित हुआ है। तूफान से तीन लोगों की मौत हो गई है। इस समय तूफान फ्लोरिडा के पश्चिमी खाड़ी तट के साथ-साथ नेपल्‍स से फोर्ट मेयर और घनी आबादी वाले ताम्‍पा खाड़ी प्रायद्वीप की ओर बढ रहा है।  अमरीकी राष्‍ट्रपति डॉनल्‍ड ट्रम्‍प ने इरमा तूफान से प्रभावित फ्लोरिडा को एक बड़ी आपदा बताते हुए संघीय सहायता के आदेश दिए हैं।

    राज्‍य के करीब 34 लाख घरों में बिजली की आपूर्तिं नहीं है और मयामी शहर के कई हिस्‍से पानी में डूबे हैं। फ्लोरिडा में भीषण तूफान की चेतावनी जारी रखी गई है। अमरीका में पहली बार तूफान के कारण साठ लाख से अधिक लोगों को घर छोड़ कर सुरक्षित स्‍थानों पर जाने को कहा गया है।

    अमरीकी राष्‍ट्रपति डॉनल्‍ड ट्रंप ने इरमा को फ्लोरिडा के लिए बड़ी आपदा घोषित किया है और प्रभावित राज्‍यों को केंद्रीय सहायता का निर्देश दिया है। रविवार को इरमा की वजह से फ्लॉरिडा के 11 लाख घरों और दफ्तरों में बिजली गुल हो गई और अब तूफान के बाद विनाशकारी बाढ़ आने की आशंका है।

    Also Read:
    'इरमा' से अलर्ट पर भारतीय विदेश मंत्रालय, जारी किए इमरजेंसी नंबर..!
    कैरिबिया को तबाह करने के बाद अमेरिका में 'विध्वंस' मचाने पहुंचा 'इरमा'..!
    इरमा तूफान का तांडवः बारबुडा में 90% इमारतें ध्वस्त, अमेरिका में लाखो बेघर
    8.1 तीव्रता के भूकंप से हिला मैक्सिकोः 60 की मौत, सुनामी की अलर्ट जारी
    मैक्सिको में सदी का सबसे भयानक भूकंपः 60 की मौत, 250 से ज्यादा घायल

    नैशनल हरिकेन सेंटर के मुताबिक अटलांटिक में अब तक के सबसे ताकतवर तूफान माने जाने वाले इरमा की वजह से फ्लॉरिडा राज्य के पश्चिमी तट पर 15 फीट ऊंची समुद्री लहरें उठीं। फ्लॉरिडा के गवर्नर रिक स्कॉट ने कहा है कि उन्हें सबसे ज्यादा चिंता पश्चिमी तट की ही है। इस तटसीमा के पास टंपा और सेंट पीटर्सबर्ग शहर पड़ते हैं।

    अमेरिकी इतिहास में सबसे ज्यादा ताकतवर तूफानों में से एक इरमा की वजह से देश के तीसरे सबसे ज्यादा आबादी वाले राज्य में अरबों डॉलर का नुकसान हुआ है। फ्लॉरिडा अमेरिका का सबसे बड़ा टूरिस्ट प्लेस माना जाता है और देश की जीडीपी में इस राज्य का 5 प्रतिशत योगदान है।

    फ्लॉरिडा पावर ऐंड लाइट के मुताबिक रविवार सुबह तक तकरीबन 11 लाख घरों और दफ्तरों में बिजली जा चुकी थी। इरमा को अभी चौथी श्रेणी के तूफान में रखा गया है। तूफान के मद्देनजर फ्लॉरिडा प्रशासन ने 63 लाख लोगों को सुरक्षित जगहों पर ले जाने का आदेश दिया है, जो कि राज्य की एक तिहाई आबादी है।

    1 लाख 20 हजार भारतीय भी फंसे
    इरमा से निपटने के लिए हजारों भारतीय-अमेरिकियों समेत लाखों लोग तैयारी कर रहे हैं। भारतीय मिशनों ने भारतीय लोगों के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए हैं। साल 2010 की जनगणना के मुताबिक, फ्लॉरिडा में भारतीय मूल के अमेरिकी लोगों की आबादी करीब 1 लाख 20 हजार है जिनमें से हजारों लोग मियामी, फोर्ट लोरा डील और टंपा में रहते हैं जो तूफान के लिहाज से खतरनाक हैं। इस बीच, कैरीबियाई द्वीप सेंट मार्टिन से करीब 60 भारतीय नागरिकों को निकाला जा रहा है। इरमा ने इस द्वीप पर काफी तबाही मचाई है। ज्यादातर भारतीय नागरिकों के पास अमेरिका का अस्थायी छोटी अवधि का ट्रांजिट वीजा है। जिन लोगों के पास ट्रांजिट वीजा नहीं है उनके लिए यहां भारतीय दूतावास विदेश मंत्रालय और होमलैंड सुरक्षा विभाग के साथ मिलकर उन्हें वीजा उपलब्ध कराने पर काम कर रहा है ताकि उन्हें विमान से अमेरिका भेजा जा सकें और वहां से वह स्वदेश लौट सकें।

    भारतीय दूतावास ने जारी किया हॉटलाइन नंबर
    अमेरिका स्थित भारतीय दूतावास ने चौबीस घंटे का हॉटलाइन नंबर 202-258-8819 शुरू किया है। इसके अलावा वरिष्ठ अधिकारियों को क्षेत्र में फंसे भारतवंशियों को मदद पहुंचाने के लिए अटलांटा रवाना किया है।

    सेंट मार्टिन से निकाले गए भारतीय
    चक्रवाती तूफान इरमा से तबाह हुए कैरेबियाई द्वीप सेंट मार्टिन पर फंसे करीब 60 भारतीयों को निकाल लिया गया है। यहां फंसे ज्यादातर भारतीयों के पास अल्प अवधि का ट्रांजिट वीजा है। जिनके पास यह वीजा नहीं है, उन्हें ट्रांजिट वीजा दिलाने के लिए भारतीय दूतावास अमेरिका के विदेश मंत्रालय और आंतरिक सुरक्षा विभाग के साथ मिलकर काम कर रहा है। अमेरिका में उप भारतीय दूत संतोष झा ने कहा, 'पिछले 48 घंटे से दक्षिणी अमेरिका और पश्चिमी अटलांटिक के द्वीपों पर फंसे भारतीयों से संपर्क साधने का मुख्य काम चल रहा है।

    ब्रिटेन के द्वीप को भी पहुंचाया नुकसान
    फ्रांस के गृह मंत्री गेरार्ड कोलोंब ने फ्रांस के इंफो रेडियो से कहा कि कैरीबियाई द्वीप में उसके अधिकार वाले क्षेत्रों में 8 लोग मारे गए हैं और 23 अन्य घायल हुए हैं. फ्रांसीसी राष्ट्रपति एमेनुएल मैक्रों के कार्यालय ने कहा कि मौसम अनुकूल होते ही वह इन द्वीपों पर जाएंगे. ब्रिटेन में सरकार ने कहा कि इरमा ने ब्रिटेन के द्वीप अंगुइला के तटों पर नुकसान पहुंचाया है. ब्रिटेन का वर्जिन द्वीप भी बुरी तरह से प्रभावित हुआ है. एंटीगुआ और बारबूडा के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन ने कहा कि बारबूडा में तकरीबन हर इमारत को नुकसान पहुंचा है. वहां के 1400 लोग बेघर हो गए हैं.

    परमाणु बम से अधिक ताकतवर
    कैरेबियन आईलैंड्स में तबाही मचाने वाले इरमा को 82 साल में सबसे ताकतवर तूफान बताया गया है। मैसाचुसेट्स यूनिवर्सिटी के हरि केरी इमैनुएल के मुताबिक इरमा, सेकंड वर्ल्ड वॉर में इस्तेमाल हुए कुल बम से दो गुना ज्यादा ताकतवर है। इसमें 7 लाख करोड़ वाॅट्स की पावर है। जबकि, सेकंड वर्ल्ड वार में न्यूक्लियर बम समेत इस्तेमाल हुए सभी बमों की ताकत 3 लाख करोड़ वॉट्स थी। बारबुडा, सेंट मार्टिन, ब्रिटिश और अमेरिकी वर्जिन आईलैंड्स में इस तूफान से अब तक 15 लोगों की मौत हो चुकी है। बारबुडा और एंटीगुआ में 90% इमारतें तबाह हो गई हैं। फ्रांस की वेदर सर्विस के मुताबिक, "33 घंटों से भी ज्यादा वक्त तक इस तूफान में 295 किलोमीटर/घंटा की रफ्तार से हवाएं चलीं। इतनी लंबे वक्त तक ताकतवर हवाओं के साथ चलने वाला इरमा अब तक का सबसे टिकाऊ तूफान रिकॉर्ड किया गया है। ये अभी भी आगे बढ़ रहा है।"

    कितना ताकतवर है यह तूफान?
    मैसाचुसेट्स यूनिवर्सिटी के तूफान विशेषज्ञ केरी इमैनुएल के मुताबिक इरमा, सेकंड वर्ल्ड वॉर में इस्तेमाल हुए कुल बम से दो गुना ज्यादा ताकतवर है। इसमें 7 लाख करोड़ वाट्स की शक्ति है। जबकि, सेकंड वर्ल्ड में न्यूक्लियर बम समेत इस्तेमाल हुए सभी बमों की ताकत 3 लाख करोड़ वाट्स थी। इरमा को दो अन्य तूफान जोस, केटिया का साथ मिल गया है। इससे यह और भी खतरनाक हो गया है।

    यह किस कैटेगरी का तूफान है?
    मेटिओ फ्रांस की फोरकास्टर एटीन कैपीकिआन ने न्यूज एजेंसी से कहा, "बहमास को हिट करने तक इरमा कैटेगरी-5 स्टॉर्म में बना रहेगा।" बता दें कि कैटेगरी 5 में सबसे ज्यादा तीव्रता वाले तूफान शामिल किए जाते हैं, जिनमें 252Kmph से ज्यादा की रफ्तार से हवाएं चलती हैं।

    इससे पहले कब आया था ऐसा तूफान?
    इरमा तूफान ने आगे बढ़ने के दौरान कैरेबियन देशों में तबाही मचा दी है। ये तूफान 2013 में आए हैयान तूफान से भी आगे निकल गया। हैयान तूफान के दौरान हवाओं की रफ्तार 300Kmph तक पहुंच गई थी, लेकिन ये रफ्तार केवल 24 घंटे तक थी। हैयान तूफान में करीब 7000 लोगों की जान चली गई थी, या वे लापता हो गए थे।

    कैरेबियाई द्वीप से कब टकराया इरमा?
    इरमा बुधवार को कैरेबियाई द्वीप बारबुडा से 297 kmph की रफ्तार से टकराया। यूएस के फ्लोरिडा स्टेट में इमरजेंसी लगा दी गई है। यहां तूफान के शुक्रवार देर रात पहुंचने की आशंका है। 166 साल में यह दूसरा मौका है, जब 15 दिन में अमेरिका में दो ताकतवर तूफान (हार्वे के बाद इरमा) आए हैं। इरमा से करीब 3 करोड़ लोगों के प्रभावित होने की आशंका है। कैरेबियाई द्वीप सेंट मार्टिन को इरमा ने भारी नुकसान पहुंचाया है। ये द्वीप 95% तक बर्बाद हो चुका है।

    बारबुडा, सेंट मार्टिन में कितना नुकसान?
    बारबुडा और एंटीगुआ में 90% से ज्यादा इमारतें तबाह हो गई हैं। इससे 1400 निवासियों में से करीब 60% बेघर हो गए। एंटीगुआ और बारबुडा के प्राइम मिनिस्टर गैस्टन ब्राउने ने कहा, "ये तबाही मचा देने वाले हालातों की एक श्रंखला है।"
    - ब्रिटिश वर्जिन आईलैंड में भी इरमा की वजह से इमारतों और घरों को काफी नुकसान पहुंचा है। कैरेबियाई आईलैंड सेंट मार्टिन को इरमा ने भारी नुकसान पहुंचाया है। ये 95% तक बर्बाद हो चुका है।


    कैरिबिआई द्वीप पर तूफान इरमा शनिवार को अपने प्रलयकारी रूप यानी कैटेगरी 5 (मतलब तूफान का उच्चतम स्तर) में क्यूबा के उत्तरी तट से टकराया। इस तूफान ने कैरेबियाई द्वीप में अलग-अलग जगह 21 लोग की जान ली, जबकि यहां लाखों लोगों को पहले ही सुरक्षित स्‍थानों पर भेज दिया गया था। अब अमेरिका के फ्लोरिडा में लाखों लोगो को भी सुरक्षित स्‍थानों की ओर कूच करने के आदेश दिया गया है।


    इरमा तूफान की वजह से कैरेबियाई द्वीप में हवा 260 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से चल रही है। अमेरिका के नेशनल हरिकेन सेंटर ने बताया कि, तूफान ने शुक्रवार रात 11 बजे क्यूबा के कामागुई द्वीपसमूह पर दस्तक दी थी। क्यूबा प्रशासन अभी तक 7,00,000 लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचा चुकी है।


Reporter : ArunKumar,
RTI NEWS


Disclaimer : हमारी वेबसाइट और हमारे फेसबुक पेज पर प्रदर्शित होने वाली तस्वीरों और सूचनाएं के लिए किसी प्रकार का दावा नहीं करते। इन तस्वीरों को हमने अलग-अलग स्रोतों से लिया जाता है, जिन पर इनके मालिकों का अपना कॉपीराइट है। यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा इस्तेमाल की गई कोई भी तस्वीर आपके कॉपीराइट का उल्लंघन करती है तो आप यहां अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं- rtinews.net@gmail.com

हमें आपकी प्रतिक्रियाओं की प्रतीक्षा है। हम उस पर अवश्य कार्यवाही करेंगे।


दूसरे अपडेट पाने के लिए RTINEWS.NET के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।