​ ​ हमेशा झूठ बोलते हैं राहुल : पीयूष गोयल
Monday, December 10, 2018 | 1:11:09 PM

RTI NEWS » News » National


हमेशा झूठ बोलते हैं राहुल : पीयूष गोयल

Friday, October 12, 2018 19:30:45 PM , Viewed: 41
  • नई दिल्ली, 12 अक्टूबर | रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और उनकी पार्टी पर राफेल मुद्दे पर गलत तथ्य और झूठ फैलाने का आरोप लगाते हुए उन्हें हमेशा झूठ बोलने वाला बताया। यहां एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए गोयल ने कहा, "हम हमेशा एक हमेशा झूठ बोलने वाले व्यक्ति की हरकतें देख रहे हैं। मुझे लगता है कि सिर्फ एक तथ्यहीन व्यक्ति ही बार-बार झूठ बोल सकता है क्योंकि उसके पास कोई अन्य मुद्दा नहीं है।"

    उनका बयान दसॉ एविएशन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) एरिक ट्रैपियर के उस बयान के बाद आया है जिसमें उन्होंने कहा था कि फ्रांस से 36 लड़ाकू विमान खरीदने का सौदा कंपनी के साथ नागपुर में रिलायंस की 10 फीसदी हिस्सेदारी वाले उपक्रम ने की थी और इसका चयन भी भारत सरकार की रक्षा खरीद प्रक्रिया की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए लगभग 100 भारतीय कंपनियों से बात करने के बाद किया गया था।

    गोयल ने कहा, "लेकिन अगर एक झूठ को सैकड़ों बार भी दोहराया जाए, तो भी वह सत्य का विकल्प नहीं हो सकता। यहां एक सज्जन झूठी खबरें बना रहे हैं और फिर उसे फैलाने का प्रयास कर रहे हैं। इसलिए झूठ पर झूठ, गलत तथ्य पर गलत तथ्य भी सच्चाई नहीं बदल सकते। कांग्रेस एक मुद्दाविहीन पार्टी है, उनका नेतृत्व मूल आंकड़े, मूल तथ्य नहीं समझ सकता।"

    गोयल ने कहा कि संभव है कि कांग्रेसी 2012 के अपने अपराध छिपाने का प्रयास कर रहे हैं जब प्रथम परिवार (गांधी परिवार) के दवाब में उन्होंने राष्ट्रीय सुरक्षा से समझौता कर और गांधी परिवार के सहयोगियों को फायदा पहुंचाने के लिए महत्वपूर्ण सौदा रद्द कर दिया था।

    समय पर राफेल सौदा करने के लिए मोदी सरकार की प्रशंसा करते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता ने कहा, "हम राष्ट्र की सुरक्षा को सर्वोपरि मानते हुए पारदर्शी नीति बनाते हैं।"

    उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने निर्णायक और महत्वपूर्ण रक्षा उपकरण खरीद को बहुत जल्द करने का निर्णय लिया।

    ट्रैपियर के बयान का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि वे इसकी पुष्टि कर रहे हैं कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन ने जबसे भारतीय नियमों के अनुसार ऑफसेट का कार्यान्वयन अनिवार्य किया है, वे ऑफसेट के लिए खुद साझेदार तलाशते हैं।

     

Reporter : ,
RTI NEWS


Disclaimer : हमारी वेबसाइट और हमारे फेसबुक पेज पर प्रदर्शित होने वाली तस्वीरों और सूचनाएं के लिए किसी प्रकार का दावा नहीं करते। इन तस्वीरों को हमने अलग-अलग स्रोतों से लिया जाता है, जिन पर इनके मालिकों का अपना कॉपीराइट है। यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा इस्तेमाल की गई कोई भी तस्वीर आपके कॉपीराइट का उल्लंघन करती है तो आप यहां अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं- rtinews.net@gmail.com

हमें आपकी प्रतिक्रियाओं की प्रतीक्षा है। हम उस पर अवश्य कार्यवाही करेंगे।


दूसरे अपडेट पाने के लिए RTINEWS.NET के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।