​ ​ प्रो कबड्डी लीग-6 : पटना पाइरेट्स से जुड़े कई बड़े प्रायोजक
Monday, December 10, 2018 | 1:10:52 PM

RTI NEWS » News » Sports


प्रो कबड्डी लीग-6 : पटना पाइरेट्स से जुड़े कई बड़े प्रायोजक

Friday, October 12, 2018 19:28:37 PM , Viewed: 32
  • नई दिल्ली, 12 अक्टूबर | प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) में अब तक तीन बार खिताब जीत चुकी पटना पाइटरेट्स ने लीग के छठे सीजन के लिए कई बड़े प्रायोजक के साथ करार किया है। प्रायजकों में बिरला गोल्ड सीमेंट, प्लास्टिक के घरेलू उत्पाद बनाने वाली कंपनी सुप्रीम, डिजिटल लेंडिंग में देश की अग्रणी कंपनी कैपिटल फ्लोट, सूर्या एलईडी, बाथ एक्सेसरीज बनाने वाली प्रमुख कंपनी प्रयाग और टायर उत्पादक बीकेटी टायर्स प्रमुख हैं।

    बिरला गोल्ड सीमेंट लगातार दूसरे साल इस टीम का प्रमुख प्रायोजक बना है।

    मौजूदा चैम्पियन पटना से कई प्रायोजकों के जुड़ने के बाद अब टीम के खिलाड़ी अपनी जर्सी के अगले हिस्से पर बिरला गोल्ड सीमेंट के लोगो के साथ मैट पर उतर रहे हैं।

    प्रयाग और बीकेटी टायर्स भी इस सीजन में टीम के साथ वैल्यू स्पांसर्स के तौर पर जुड़े हैं। इनके लोगो भी टीम की जर्सी पर दिख रहे हैं। इस सीजन के लिए पाइरेट्स ने एपेरल पार्टनर के तौर पर 4यू के साथ करार किया है।

    पटना पाइरेट्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी पवन एस राणा ने कहा, "हम कबड्डी के छठे सीजन के लिए अपने सभी साझेदारों का स्वागत करते हैं। हमारे सभी साझेदार इस खेल के विकास को लेकर प्रतिबद्ध हैं और हमारे अच्छे प्रदर्शन पर इन्हें भरोसा है। इतने सारे प्रायोजकों के जुड़ने से हमें लगातार अच्छा करने की प्रेरणा मिलती है।"

    पटना की टीम ने छठे सीजन में अब तक दो मैच खेले हैं जिसमें उसे एक में जीत और एक में हार मिली है।

     

Reporter : ,
RTI NEWS


Disclaimer : हमारी वेबसाइट और हमारे फेसबुक पेज पर प्रदर्शित होने वाली तस्वीरों और सूचनाएं के लिए किसी प्रकार का दावा नहीं करते। इन तस्वीरों को हमने अलग-अलग स्रोतों से लिया जाता है, जिन पर इनके मालिकों का अपना कॉपीराइट है। यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा इस्तेमाल की गई कोई भी तस्वीर आपके कॉपीराइट का उल्लंघन करती है तो आप यहां अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं- rtinews.net@gmail.com

हमें आपकी प्रतिक्रियाओं की प्रतीक्षा है। हम उस पर अवश्य कार्यवाही करेंगे।


दूसरे अपडेट पाने के लिए RTINEWS.NET के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।